Thursday, 15 December 2016

''ना मुझ में मेरा कुछ प्रियतम ,ना तुझमें कुछ तेरा” 
 कुछ मायावी जादू तेरा ,कुछ चंचल चितवन मेरा 
 कहाँ ले गए प्रियतम निर्मोही तोड़ कर मन का घेरा
 मेरा ले मेरे मधुबन में प्रिय तुम डाल के अपना डेरा | 

                                               शैल सिंह